उसको चहेरे पर इस कदर नूर था कि•••••• उसकी याद में रोना भी मंजूर था❗

उसको चहेरे पर इस कदर नूर था कि••••••
उसकी याद में रोना भी मंजूर था❗


Comments

Popular posts from this blog

जीवन का उद्देश्य क्या है

"फौजी" का बेटा हू ,मिट्टी से तिलक लगाता हू

whatsapp jock हसो हसाओ स्वस्त रहो